अपने लिविंग रूम को सजाने के लिए इन पीओपी (POP) सीलिंग डिजाइन्स को देखें


आज हम आपको प्लास्टर ऑफ पेरिस (POP) फॉल्स सीलिंग के फायदों और लिविंग रूम में उन्हें लगवाने के लिए विभिन्न डिजाइन्स के बारे में बताएंगे.

Table of Contents

चाहे लिविंग रूम हो, बेडरूम हो, डाइनिंग रूम या मकान का कोई और हिस्सा, फॉल्स सीलिंग आम छत या सेंट्रलाइज्ड एयर कंडीश्नर सिस्टम छुपाने के काम आती है.   मॉडर्न से लेकर पारंपरिक डिजाइन्स तक, फॉल्स सीलिंग को विभिन्न रंगों, आकृति, आकारों के हिसाब से अपना लिविंग रूम ज्यादा बड़ा और आकर्षक बना सकते हैं. आज हम आपको प्लास्टर ऑफ पेरिस (पीओपी) को अपने लिविंग रूम में लगाने और आपकी मदद के लिए पीओपी सीलिंग डिजाइन की सूची के बारे में बताने जा रहे हैं.

 

फॉल्स सीलिंग के लिए पीओपी कैसे इस्तेमाल करें?

प्लास्टर ऑफ पेरिस फॉल्स सीलिंग बहुत टिकाऊ होती है और बिना किसी टूट-फूट के वर्षों तक चलती है. पीओपी पाउडर के रूप में उपलब्ध होती है और उसमें पानी डालकर उसका पेस्ट बनाया जाता है. सीलिंग डिजाइन बनाने के लिए पीओपी को जाली में लगाया जाता है ताकि वह बरकरार रहे.  इसके अलावा, जिप्सम बोर्ड्स की तुलना में पीओपी अधिक किफायती है. हालांकि, फिनिश पाने के लिए आपको पीओपी किसी प्रोफेशनल को हायर करना पड़ेगा. पीओपी सीलिंग को लगाने में अधिक समय लगता है और लगाने के लिए इसका पूरी तरह से सूखा होना चाहिए. लिविंग रूम के लिए आप सिंपल पीओपी डिजाइन्स को चुन सकते हैं. इसके लगाना आसान है. या फिर आप मॉडर्न डिजाइन भी चुन सकते हैं, जिससे आपका रूम चमक उठेगा.

लिविंग रूम के लिए पीओपी सीलिंग के डिजाइन कैसे चुनें?

  1. एक के बजाय, लिविंग रूम के लिए सीलिंग डिजाइन्स चुनते वक्त, आप आकार और लाइट्स के मिश्रण के साथ आप इनोवेटिव डिजाइन चुन सकते हैं. हालांकि अगर आपके ड्राइंग रूम में ही डाइनिंग रूम है तो ऐसा डिजाइन चुनें जो खूबसूरत हो और अच्छी लाइटिंग हो.
  2. लिविंग रूम के फॉल्स सीलिंग में रोशनी का पर्याप्त इंतजाम करें. आप सीलिंग के कॉन्सेप्ट के लिए बिजली बचाने वाले एलईडी बल्ब का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अलावा, आप बड़े झूमर और लटकने वाले लैंप्स से एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं ताकि आपकी जगह बड़ी और खूबसूरत लगे.
  3. सफेद सबसे आम रंग है. कमरे को बड़ा और खूबसूरत दिखाने के लिए आप अन्य गहरे शेड्स का इस्तेमाल कर सकते हैं. रॉयल लुक के लिए आप बेज या पीला शेड चुन सकते हैं. मॉडर्न लुक के लिए छत में आप बनावट भी करा सकते हैं, जैसे वुडन फिनिश, मेटैलिक या पारंपरिक.
  4. ऐसा कोई कारण नहीं है कि आप आयताकार और चौकोर डिजाइन को ही चुनें. कर्व, आर्क या सर्कल काफी चलन में हैं और इनके जरिए आप नए लुक डिजाइन कर सकते हैं. समरूपता (सिमेट्री) तो तोड़ना और अपने घर को आधुनिक नजरिया देना एक अच्छा विचार है. आप सजावट में इस्तेमाल अन्य तत्वों के उलट इन शेप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं.

 

लिविंग रूम में फॉल्स पीओपी सीलिंग डिजाइन की सूची

पीओपी सीलिंग का इस्तेमाल आपके लिविंग रूम में इन्सुलेशन की एक अतिरिक्त परत को जोड़ने के लिए भी किया जा सकता है. अगर आप कमरे को एक वॉर्म लुक देना चाहते हैं तो फॉल्स सीलिंग में एलईडी लाइट्स लगा सकते हैं. अगर आपके पास फॉल्स सीलिंग पर निवेश करने के लिए एक मामूली बजट है, तो आप लिविंग रूम के लिए आसान पीओपी डिजाइन चुन सकते हैं, जो कि लगाने में आसान है, देखने में अच्छा है और आपके कमरे को बेहतर लुक दे सकता है.

 

pop ceiling design catalogue

Source: pinimg.com

Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: pinimg.com

Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: 4.bp.blogspot.com

अगर आप स्पेस को ऑप्टिमाइज और इलेक्ट्रिकल केबल्स को छिपाना चाहते हैं तो सस्पेंडेड सीलिंग सर्वश्रेष्ठ होती है.

Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: bp.blogspot.com

simple pop designs for living room

Source: otomientay.info

प्लास्टर ऑफ पेरिस का एक फायदा यह भी है कि आप नए सांचे और आकार जैसे सर्किल, ट्रे, लेयर्स, स्क्वेयर इत्यादि का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अलावा, इंस्टॉलेशन प्रक्रिया पूरी होने के बाद पीओपी फॉल्स सीलिंग पर किसी भी डिजाइन को जोड़ना, बने हुए डिजाइन को फिर से सजाना या उसमें बदलाव करना बहुत आसान है.


Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: bp.blogspot.com/

Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: bp.blogspot.com/

Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: bp.blogspot.com/

Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: bp.blogspot.com/

Check out these POP ceiling designs to decorate your living room

Source: designcafe

check-out-these-pop-ceiling-designs-to-decorate-your-living-room

Source: Shutterstock

 

check-out-these-pop-ceiling-designs-to-decorate-your-living-room

Source: Shutterstock

 

check-out-these-pop-ceiling-designs-to-decorate-your-living-room

Source: Shutterstock

 

check-out-these-pop-ceiling-designs-to-decorate-your-living-room

Source: Shutterstock

 

check-out-these-pop-ceiling-designs-to-decorate-your-living-room

Source: Shutterstock

 

check-out-these-pop-ceiling-designs-to-decorate-your-living-room

Source: Shutterstock

 

check-out-these-pop-ceiling-designs-to-decorate-your-living-room

Source: Shutterstock

 

साल 2021 के लिए पीओपी सीलिंग के मशहूर डिजाइन्स

इन दिनों मकानमालिक दीवारों के लिए बेसिक पीओपी सीलिंग डिजाइन्स से हटकर कुछ और देख रहे हैं. सेंटर एलिमेंट को प्लेन और सिंपल न रखते हुए वह उसमें लाइट फिक्सचर्स को जुड़वा रहे हैं ताकि कमरा और रोशन हो सके. इससे कमरे की सुंदरता भी बढ़ती है. यह डिजाइन छोटे कमरों के लिए सर्वश्रेष्ठ है. एक अन्य डिजाइन जो काफी मशहूर है, वो है सेंटर में हॉलो टी-बार पीओपी सीलिंग. खुली जगह का इस्तेमाल रंगीन रोशनी या बनावट वाली फिनिश को लगाने के लिए किया जा सकता है.

 

छोटे लिविंग रूम के लिए पीओपी सीलिंग डिजाइन्स

छोटे अपार्टमेंट्स, जिनमें लिविंग रूम में ही डाइनिंग रूम होता है, वहां विभिन्न पीओपी सीलिंग डिजाइन्स को चुनकर आप सरहदबंदी कर सकते हैं. जब बात पैटर्न्स की आती है तो विभिन्न प्रकार के आकार और जियोमेट्रिकल पैटर्न्स जैसे ओवल, सर्किल उपलब्ध हैं, जो छोटे लिविंग स्पेस के लिए मुफीद हैं. जब बात लाइटिंग की आती है तो आप स्पॉट फिक्सचर्स, कोव लाइटिंग के कॉम्बिनेशन का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो इस एरिया के लिए सबसे अच्छे रहेंगे.

 

फॉल्स सीलिंग के फायदे और नुकसान

फायदेनुकसान
फॉल्स सीलिंग लिविंग रूम्स के लिए शानदार हैं क्योंकि ये कमरे में एक अतिरिक्त परत बना देती है, जिससे कमरा और खूबसूरत लगता है.फॉल्स सीलिंग के डिजाइन और इंस्टॉलेशन के लिए अत्यधिक सटीकता की जरूरत होती है और इसे सिर्फ एक्सपर्ट्स से ही कराना चाहिए.
तारों के जाल को छिपाने के लिए फॉल्स सीलिंग सबसे शानदार जगह है. आप बिना फिक्सचर्स की चिंता किए लाइटिंग भी फिट करा सकते हैं.फॉल्स सीलिंग को असली छत से करीब 8 इंच दूर होना चाहिए. छोटे घरों में कमरों की छत नीची होने के कारण यह संभव नहीं है.
 

फॉल्स सीलिंग कमरे के अनुपात को बहाल करती है, जहां वर्टिकल स्पेस फर्नीचर को छोटा बना देता है.

फॉल्स सीलिंग कमरे को तंग बना सकती है. इसलिए फॉल्स सीलिंग करवाने के लिए कमरे की हाइट कम से कम 11 फीट होनी चाहिए.
 

फॉल्स सीलिंग कमरे को अलग कर हवा को रोकती है, जिससे कमरा ठंडा रहता है. यह एयरकंडीश्नर के काम को सुधारती है, क्योंकि यह कुल स्थान को कम कर देता है जिसे ठंडा करना होता है.

 

ट्रेंडिंग फॉल्स सीलिंग डिजाइन आइडिया

  1. मिनिमेलिस्ट:  यह एक साधारण फॉल्स सीलिंग डिज़ाइन है, जो अपनी सादगी के कारण असाधारण रूप से सुरुचिपूर्ण दिखता है. यह एक मॉडर्न लुक देता है, लेकिन पारंपरिक सजावट के साथ भी पूरी तरह से मिक्स हो जाता है.
  2. लाइट हाइलाइटेड: अगर आप लाइट्स के साथ एक्सपेरिमेंट करना चाहते हैं तो पीओपी फॉल्स सीलिंग सबसे बेहतर चॉइस है. जो फॉल्स सीलिंग दीवार के करीब से चलती है, वो लाइट फिक्सचर्स के लिए बनाई जाती है और मुलायम चमक बनाकर जगह को खुशुनुमा बदलाव देती है.
  3. हैंगिंग सीलिंग: ये वाली फॉल्स सीलिंग सबसे ज्यादा चलन में है, जिसमें सस्पेंडेड सीलिंग पीओपी से बनाई जाती है, जिसमें लकड़ी का भी इस्तेमाल होता है. इससे जगह में खूबसूरती आती है. इसके अलावा, जो पेंडेंट लैंप छत से लकड़ी वाले हिस्से से लटकता है और पीओपी पर लगी स्पॉटलाइट्स कमरे में लाइट्स की तीव्रता को कम करती हैं.
  4. पैटर्न वाली छत: आप इंटरसेक्टिंग लाइन्स से लेकर छत पर एक दिलचस्प पैटर्न तक किसी भी तरह का आर्टिस्टिक डिस्प्ले चुन सकते हैं. लाइट्स के साथ यह पैटर्न फॉल्स सीलिंग के डिजाइन को और भी खूबसूरत बना देते हैं.

 

फॉल्स सीलिंग के फायदे

  1. फॉल्स सीलिंग के जरिए पूरे कमरे में सीलिंग लाइट्स के जरिए रोशनी फैलती है.
  2. फॉल्स सीलिंग एक अहम तत्व है, जिसे आप अपना स्टाइल जताने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.
  3. आम सीलिंग के विपरीत, फॉल्स सीलिंग के डिजाइन को लाइटिंग की जरूरतों और आकार के हिसाब से किया जा सकता है.
  4. सीलिंग पर विभिन्न रंगों और शेड्स में एक्सपेरिमेंट के जरिए आपका कमरा बड़ा लग सकता है. इन्हें किसी पेंटिंग वर्क से भी रंगा जा सकता है.

 

ड्रॉइंग रूम के लिए पीओपी फॉल्स सीलिंग के रंगों को कैसे चुनें?

जब बात फॉल्स सीलिंग की आती है, तो रंगों की पूरी रेंज है. आइए आपको कुछ उपलब्ध विकल्पों के बारे में बताते हैं, जो आपके कमरे के आकार और डायनैमिक के हिसाब से हैं.

  • दीवारों की तुलना में फॉल्स सीलिंग में हमेशा हल्के शेड्स का इस्तेमाल करें. इससे छत थोड़ी और ऊंची नजर आएगी और कमरा ज्यादा बड़ा लगेगा.
  • अगर कमरे में गहरा रंग है या उसमें काफी सामान जैसे फर्नीचर, पेंट, साज-सज्जा और अबसाब है तो सीलिंग में वाइट शेड कराएं.
  • जिन कमरों में सफेद रंग की दीवारें हैं, उनके लिए आप गहरे रंग जैसे चारकोल ग्रे, नेवी ब्लू या चॉकलेट ब्राउन का इस्तेमाल कर सकते हैं. ये जबरदस्त कंट्रास्ट पैदा करते हैं.
  • जब फॉल्स सीलिंग लगवाएं तो आप एक ही रंग सीलिंग और दीवारों पर करा सकते हैं. हालांकि जो भी रंग आप चुनें, वो कमरे के आकार के मुताबिक होना चाहिए.

 

पीओपी फॉल्स सीलिंग के लिए कलर कॉम्बिनेशन्स

अपने घर की फॉल्स सीलिंग को अलग दिखाने और बाकी घर से उसके सामंजस्य के लिए आप विभिन्न शेड्स के साथ एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं. आइए अब आपको साल 2021 के कुछ ट्रेंडी कलर कॉम्बिनेशन्स के बारे में बताते हैं, जिन्हें आप अपने घर में पीओपी फॉल्स सीलिंग लगवाने की योजना बनाते वक्त चुन सकते हैं.

  • गर्म और आरामदायक माहौल के लिए: मस्टर्ड यलो और वाइट.
  • डिजाइन वाली फॉल्स सीलिंग के लिए: ऑरेंज, पर्पल, रेड या यलो. ये रंग साफ तौर पर दिखाई नहीं देंगे लेकिन जब रोशनी होगी तो ये गहरे नजर आएंगे.
  • सफेद दीवारें और न्यूट्रल इंटीरियर्स: फीरोजा.
  • दीवारों पर  ऐक्सेन्चूऐट के लिए: भूरे या किसी भी गहरे शेड्स के साथ क्राउन मोल्डिंग.
  • क्लासिक लुक के लिए:  आबनूस या फिर आइवरी कलर्स.

 

छत में पेंट के लिए रंग कैसे चुनें?

घर की छत के लिए रंगों का चुनाव करते वक्त इन गाइडलाइंस का ध्यान रखें:

  • सीलिंग के रंग कमरे के अहसास को और बड़ा कर देते हैं. इसलिए इसे ज्यादा न कराएं और घर के ऐसे क्षेत्रों में सिंपल ही रखें जहां बार-बार पेंट कराना संभव नहीं है.
  • अगर घर की सीलिंग सफेद रंग की है तो फोकस घर की दीवारों और फर्नीचर पर जाएगा. इससे अगर दीवार के रंग चमकदार करा रहे हैं तो घर की सीलिंग सफेद रंग की होनी चाहिए.
  • अगर दीवार पर फीका रंग करा रहे हैं तो सफेद रंग की सीलिंग होने से कमरा बड़ा और जगमगाया हुआ लगेगा.
  • अगर आपको कंट्रास्टिंग इफेक्ट चाहिए तो आप सीलिंग पर गहरा रंग कराकर उसी रंग का चमकीला वर्जन का इस्तेमाल कर सकते हैं. चमकीला रंग नाटकीय प्रभाव को सॉफ्ट कर देगा. चमक सतह से प्रकाश को प्रतिबिंबित करेगी.
  • अगर आप दीवारों और छत पर एक ही रंग लगाना चाहते हैं, तो समझ लें कि इससे आपका कमरा छोटा और आरामदेह दिखाई देगा. ऐसा आप बेडरूम और बाथरूम में कर सकते हैं.

 

फॉल्स सीलिंग की लागत 

सीलिंग का प्रकारऔसत लागत
जिप्सम फॉल्स सीलिंग50-150 रुपये प्रति स्क्वेयर फीट
पीओपी फॉल्स सीलिंग50-150 रुपये प्रति स्क्वेयर फीट
वुडन फॉल्स सीलिंग80-650 रुपये प्रति स्क्वेयर फीट

स्रोत:: Livspace.com

 

पीओपी कितने समय तक चलती है?

पीओपी फॉल्स सीलिंग काफी टिकाऊ होती है. लेकिन यह निर्भर करता है कि कौन सा मटीरियल इस्तेमाल किया गया है. हाई-क्वॉलिटी वाली पीओपी फॉल्स सीलिंग 20 साल तक भी चल सकती है जबकि कम क्वॉलिटी वाली पीओपी फॉल्स सीलिंग में 5-6 साल में ही दरारें दिखने लग जाएंगी. इसलिए अगर आप पीओपी सीलिंग में निवेश कर रहे हैं तो कॉन्ट्रैक्टर्स से रहें कि वह हाई क्वॉलिटी वाले पीओपी मटीरियल का ही इस्तेमाल करे.

 

पीओपी फॉल्स सीलिंग कराने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

  • नए घर में प्रवेश से पहले ही सीलिंग का काम करा लें. अगर आप अपने घर को फिर से रेनोवेट करा रहे हैं और मौजूदा सजावट में ही फॉल्स सीलिंग जोड़ना चाहते हैं तो पेशेवरों की सहायता लें, जो काम जल्द से जल्द खत्म कर दें. वो इसलिए क्योंकि पीओपी (प्लास्टर ऑफ पेरिस) के कारण काफी गड़बड़ पैदा हो सकती है और आपको छत बनाने से रोक सकता है.
  • काम शुरू होने से पहले कुछ छतों में ज्यादा  हेडरूम की जरूरत होती है. इसलिए पहले हाइट चेक करा लें. इसके अलावा, कुछ इंच जोड़ने या घटाने के लिए तैयार रहें क्योंकि पीओपी शीट में कुछ जगह की जरूरत होती है.
  • अगर लिविंग रूम में फॉल्स सीलिंग बनवाना चाहते हैं तो चेक कर लें कि आप पूरी सतह को कवर करना चाहते हैं या फिर सिर्फ लाइट फिटिंग्स के पास. इससे आप अपना बजट बेहतर तरीके से प्लान कर पाएंगे.

 

पीओपी फॉल्स सीलिंग लगवाते वक्त इन बातों को लेकर बरतें सावधानी

प्रॉपर्टी मालिकों को पीओपी फॉल्स सीलिंग लगवाने की प्रक्रिया के दौरान कुछ सावधानियों का पालन करना चाहिए. इससे बाद में उन्हें सीलिंग की देखभाल और प्रबंधन में आसानी होगी.

  • घर के मालिकों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सीलिंग में लीकेज ना आए.
  • अच्छे ब्रैंड्स की ही पीओपी का इस्तेमाल करें ताकि प्रक्रिया के दौरान दरार ना आए.
  • जहां पीओपी लगाई जा रही है,  उस जगह के लिए पीओपी की एक निश्चित स्थिरता की अनुरूपता पर विचार करें.
  • मोटाई कम से कम 10-12 मिमी की होनी चाहिए. इससे कम अगर होगा तो नुकसान हो सकता है.
  • ध्यान रहे कि लगाने से पहले पीओपी पूरी तरह सूखी हुई हो.
  • दुर्घटना से लगने वाली आग से बचने के लिए सारे बिजली के तार पाइप में लगवाएं.

 

पूछे जाने वाले सवाल

पीओपी या जिप्सम: कौन सी सीलिंग बेहतर है?

पीओपी लंबे समय तक चलती है और जिप्सम के मुकाबले ज्यादा किफायती भी है.

पीओपी सीलिंग की लागत कितनी होती है?

पीओपी फॉल्स सीलिंग की दरें 40 रुपये प्रति स्क्वेयर फीट से शुरू होकर कुछ मामलों में 95 रुपये या उससे ज्यादा भी हो सकती है.

क्या फॉल्स सीलिंग महंगी होती है?

यह इस्तेमाल हुए मटीरियल पर निर्भर करता है. फॉल्स सीलिंग किफायती हो सकती है और इंसुलेशन में एक अतिरिक्त लेयर जोड़ देती है

 

Was this article useful?
  • 😃 (0)
  • 😐 (0)
  • 😔 (0)

Comments

comments

Comments 0