त्योहारी मौसम में घर खरीदने से पहले इन वास्तु टिप्स को जरूर पढ़ लें

ऐसे कई तरीके हैं, जिनके जरिए घर खरीददार और मकानमालिक वास्तु का इस्तेमाल कर त्योहारी मौसम में अपने घर में सकारात्मक ऊर्जा ला सकते हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे ही टिप्स बता रहे हैं.

आजकल घर खरीददार मकान खरीदते वक्त वास्तु शास्त्र की अहमियत समझने लगे हैं. लोग ऐसे प्रोजेक्ट्स या घर नहीं खरीद रहे हैं, जो वास्तु के अनुरूप नहीं हैं. ऐसा त्योहारी मौसम में हो रहा है, जिसे घर खरीदने के लिए बेहद शुभ माना जाता है. त्योहारी मौसम में रियल एस्टेट में फ्रेश सप्लाई, डिस्काउंट्स और ऑफर्स मिलते हैं. ऐसे में ग्राहकों के लिए वास्तु शास्त्र के फैक्टर को डील फाइनल करने से पहले ध्यान में रखना मुश्किल हो जाता है.

ए2जेडवास्तु.कॉम के प्रोमोटर और सीईओ विकास सेठी ने कहा, ”वास्तु ऊर्जा का अध्ययन है, जिसका मकसद हमारी जिंदगी को खुश, ऊर्जावान, कामयाब और समृद्ध बनाना है. अगर ऊर्जा संतुलित नहीं होगी तो इससे वित्तीय समस्याएं, कारोबार में परेशानियां, स्वास्थ्य परेशानियां और दुख पसरा रहता है.”
उन्होंने कहा, ”वास्तु में पांच दिशाओं को पंचतत्व कहा जाता है. पूरे ब्रह्मांड में सभी चीजें इनसे मिलकर ही बनी हैं. वास्तु पंचतत्वों को संतुलित करता है. अगर घर का वास्तु सही है तो इससे हमारी जिंदगी पर सकारात्मक असर पड़ता है.”

त्योहारी मौसम में घर खरीदने के वास्तु टिप्स:

एस्ट्रो-न्यूमरोलॉजिस्ट गौरव मित्तल कहते हैं, ”घर खरीदना किसी शख्स के लिए जिंदगीभर का सपना होता है. घर (चाहे वो विला हो या फ्लैट) खरीदते वक्त वास्तु से जुड़ी कुछ चीजों का ध्यान रखना जरूरी होता है.”
  • घर या विला के मामले में प्लॉट का एरिया, मिट्टी और नकारात्मक ऊर्जा को ध्यान में रखना जरूरी होता है.
  • उत्तर/उत्तर-पूर्व खुला होना चाहिए और निर्माण दक्षिण/दक्षिण पश्चिम में होना चाहिए.
  • लैंडस्केपिंग इस तरह से होनी चाहिए कि उत्तर/उत्तर-पूर्व का चतुर्थांश कम और दक्षिण-पश्चिम का ज्यादा होना चाहिए.
  • ऐसा घर खरीदें, जिसकी एंट्री उत्तर-पूर्व दिशा से हो.
  • मास्टर बेडरूम घर की साउथ-वेस्ट दिशा में होना चाहिए.
  • किचन हमेशा साउथ-ईस्ट दिशा में होनी चाहिए.
  • पूजा घर नॉर्थ-ईस्ट, पूर्व या उत्तर में होना चाहिए.
  • नॉर्थ वेस्ट दिशा गेस्ट रूम या ड्राइंग रूम के लिए उपयुक्त है.
  • घर या विला में बेसमेंट या तो पूरे घर के नीचे होना चाहिए. अगर यह अलग है तो उत्तर/उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए.
एक्सपर्ट्स का मानना है कि घर को हमेशा साफ रखना और उसे अच्छे से पेंट कराना भी वास्तु का हिस्सा है. अगर घर साफ होगा तो सकारात्मक ऊर्जा पूरे घर में फैलेगी. यह बरसों पुरानी संस्कृति भी है कि हम त्योहारों के समय अपना घर साफ करते हैं. कबाड़ और इस्तेमाल न होने वाली चीजों को बेचना ही बेहतर है क्योंकि इससे घर में ऊर्जा का फिर से संचार होता है.

त्योहारी मौसम में घर में सकारात्मक ऊर्जा लाने के उपाय:

  • घर में मकड़ियों के जाले न लगने दें.
  • त्योहारी सीजन में अमरूद, नीम, अशोक इत्यादि के पौधे लगाएं.
  • त्योहारी मौसम में घर में रोशनी के लिए सफेद लाइट्स लगाएं.
  • अगर आप कोई नया सामान खरीदते हैं तो उसे सही दिशा में रखें. लेकिन घर के नॉर्थ-ईस्ट में भारी सामान रखने से बचें.
  • बेकार पड़ा सामान, अखबार, किताबें, कपड़े, जूते इत्यादि हटा दें क्योंकि यह नकारात्मक ऊर्जा फैलाते हैं.
  • अपना कैश बॉक्स सही करें और बेकार कागज और बिलों को फेंक दें.
  • कमरों में पेंटिंग्स लगाते वक्त काले और लाल रंगों को दरकिनार करें.
Was this article useful?
  • 😃 (1)
  • 😐 (0)
  • 😔 (0)

Comments

comments