गृह प्रवेश मुहूर्त 2021: नए घर में जाने के लिए ये हैं सबसे शुभ तारीखें


गृह प्रवेश के जरिए उन लोगों के लिए सकारात्मकता और सौभाग्य आता है, जो उस घर में रहते हैं. आज हम आपको साल 2020-21 में गृह प्रवेश के कुछ शुभ मुहूर्त के बारे में बताने जा रहे हैं, ताकि आप एडवांस में ही प्लानिंग कर सकें

Table of Contents

‘गृह प्रवेश’, जिसे अंग्रेजी में हाउस वार्मिंग सेरेमनी भी कहा जाता है, वह घर में एक बार ही कराई जाती है. इसलिए हर बात का ख्याल रखना जरूरी है ताकि गलतियां न हों. अगर आपने हाल ही में घर लिया है तो सेरेमनी के लिए सही तारीख चुननी जरूरी है. पहले ही गृह प्रवेश समारोह की योजना बना लेना बेहतर है, ताकि अंतिम समय में कोई परेशानी न हो. पहले ही प्लानिंग करने से आप गृह प्रवेश के लिए सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त लॉक कर सकते हैं. अगर आपको तारीख को अंतिम रूप देने में देरी होती है, तो किसी सामान्य मुहूर्त से संतुष्ट रहना पड़ सकता है.

कोविड-19 महामारी के कारण यह सलाह दी जाती है कि गृह प्रवेश समारोह लॉकडाउन पूरी तरह खत्म होने के बाद ही करें. इसलिए चीजों को आसान बनाने के लिए हम आपको साल 2020-2021 में गृह प्रवेश के लिए शुभ तारीखें बता रहे हैं.

-‘गृह प्रवेश’ सेरेमनी केवल एक ही बार घर में होती है.

-ध्यान रहे कि गृह प्रवेश के बाद घर बंद न रहे, परिवार का कोई न कोई सदस्य उसमें रहे.

-शुभ मुहूर्त पर गृह प्रवेश के दौरान घर साफ-सुथरा होना चाहिए.

साल 2021 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

अरिहंत वास्तु में एक्सपर्ट नरेंद्र जैन ने कहा, ‘गृह प्रवेश के लिए कई लोग खारमास, श्राद्ध, चतुर्मास इत्यादि को अशुभ मानते हैं. पंचांग हर जगह का अलग-अलग हो सकता है. इसलिए आपके इलाके में जो पंचांग माना जाता है, उसी के अनुसार ज्योतिषी से गृह प्रवेश की तारीख निकलवाएं. नीचे हम आपको साल 2020-21 में गृह प्रवेश की शुभ तारीखें बताने जा रहे हैं.’

Griha Pravesh DateDayTithi
9 January 2021SaturdayEkadashi
12 February 2021FridayDauj
14 February 2021SundayChauth
15 February 2021MondayPanchmi
20 February 2021SaturdayNavmi
22 February 2021MondayEkadashi
8 March 2021MondayDashmi
9 March 2021TuesdayEkadashi
14 March 2021SundayPratipada
15 March 2021MondayDauj
1 April 2021ThursdayChaturthi
11 April 2021SundayAmavasya
16 April 2021FridayChaturthi
20 April 2021TuesdayAshtami
 26 April 2021MondayChaturdashi
13 May 2021ThursdayDauj
14 May 2021FridayAkshaya Tritiya
21 May 2021FridayDashmi
22 May 2021SaturdayEkadashi
24 May 2021MondayTeras
26 May 2021WednesdayPratipada (lunar eclipse)
4 June 2021FridayEkadashi
5 June 2021SaturdayEkadashi
19 June 2021SaturdayDashmi
26 June 2021SaturdayDauj
1 July 2021ThursdaySaptmi
5 November 2021FridayDauj
6 November 2021SaturdayTritiya
10 November 2021WednesdaySaptmi
20 November 2021SaturdayDauj
29 November 2021MondayDashmi
13 December 2021MondayDashmi

 

जनवरी 2021 में गृह प्रवेश की तारीखें (माघ)

-9 जनवरी, शनिवार-एकादशी

जनवरी 2021 में केवल एक शुभ मुहूर्त है. आप अपनी जन्मपत्रिका के अनुसार किसी पंडित से राय ले सकते हैं.

फरवरी 2021 में गृह प्रवेश की तारीख (फाल्गुन)

12 फरवरी, शुक्रवार- दोज
14 फरवरी, रविवार- चौथ
15 फरवरी, सोमवार – पंचमी
20 फरवरी, शनिवार-नवमी
22 फरवरी, सोमवार- एकादशी

बसंत पंचमी 16 फरवरी को पड़ती है और गृहप्रवेश की पूजा के लिए किसी भी पुजारी से सलाह ली जा सकती है.

मार्च 2021 में गृह प्रवेश की तारीख (चैत्र)

8 मार्च, सोमवार-दशमी
9 मार्च, मंगलवार- एकादशी
14 मार्च, रविवार- प्रतिपदा
15 मार्च, सोमवार-दूज

चूंकि राहु काल के कारण गृहप्रवेश समारोह के लिए बहुत कम शुभ तिथियां हैं, इसलिए किसी पुजारी से सलाह लेने के बाद ही इस माहुर को माना जाना चाहिए।

अप्रैल 2021 में गृह प्रवेश की तारीखें (बैसाख)

1 अप्रैल, गुरुवार- चतुर्थी
11 अप्रैल, रविवार- अमावस्या
16 अप्रैल, शुक्रवार- चतुर्थी
20 अप्रैल, मंगलवार- अष्टमी
26 अप्रैल, सोमवार- चतुर्दशी

चूँकि इस महीने में गृहनिर्माण की रस्म के लिए बहुत कम शुभ मुहूर्त होते हैं, इसलिए इन पंडितों को पुजारी से सलाह लेने के बाद ही विचार किया जा सकता है।

मई 2021 में गृह प्रवेश की तारीखें (बैसाख/ज्येष्ठ)

13 मई, गुरुवार – दौज
14 मई, शुक्रवार – तृतीया
21 मई, शुक्रवार – दशमी
22 मई, शनिवार – एकादशी
24 मई, सोमवार – तेरस
26 मई, बुधवार – प्रतिपदा

14-15 मई को अक्षय तृतीया है और इसे गृह प्रवेश के लिए सबसे शुभ तारीखों में गिना जाता है.

जून 2021 में गृहप्रवेश की तिथि (ज्येष्ठ / आषाढ़)

4 जून, शुक्रवार – एकादशी
5 जून, शनिवार – एकादशी
19 जून, शनिवार – दशमी
26 जून, शनिवार – दौज

10 जून एक और शुभ मुहूर्त है लेकिन सूर्य ग्रहण के कारण आपको इस दिन से बचना चाहिए. आप अधिक जानकारी के लिए किसी पंडित से परामर्श ले सकते हैं.

जुलाई 2021 में गृहप्रवेश की तारीखें (आषाढ़/ श्रावण)

1 जुलाई, गुरुवार – सप्तमी
आप गृहप्रवेश के मुहूर्त के लिए किसी ज्योतिषी से परामर्श ले सकते हैं.

जुलाई के मध्य से अक्टूबर 2021 तक गृह प्रवेश की तारीखें (श्रावण, भाद्रपद, आश्विन, कार्तिक)

इस अवधि में कोई भी शुभ मुहूर्त नहीं है. इन महीनों के दौरान गृह प्रवेश से नकारात्मक ऊर्जा आती है और इसके परिणामस्वरूप वित्तीय नुकसान और स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं.

नवंबर 2021 में गृह प्रवेश की तारीखें (कार्तिक/मार्घशीर्ष)

5 नवंबर, शुक्रवार – दौज
6 नवंबर, शनिवार – तृतीया
10 नवंबर, बुधवार – सप्तमी
20 नवंबर, शनिवार – दौज
29 नवंबर, सोमवार – दशमी

2021 में दीपावली 4 नवंबर को है. आप इस त्योहार के बाद पंडित से शुभ तारीखों को लेकर सलाह ले सकते हैं.

दिसंबर 2021 में गृह प्रवेश की तारीखें (मार्घशीर्ष/पौष)

दिसंबर 13, सोमवार-दशमी

एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि चुनी हुई गृह प्रवेश की तारीख पर उपलब्ध समयावधि की पुष्टि कर लें क्योंकि अप्रैल, मई और जून में कुछ ही शुभ दिन हैं और आपको पुजारी या पंडित मिलने में दिक्कत हो सकती है.

हर महीने के हिसाब से साल 2021 में गृहप्रवेश के लिए शुभ दिन

महीनेदिन
जनवरी9
फरवरी12, 14, 15, 20, 22
मार्च8, 9, 14, 15
अप्रैल1, 11, 16, 20, 26
मई13, 14, 21, 22, 24, 26
जून4, 5, 19, 26
जुलाई1, 17, 24, 26
अगस्त4, 12, 14, 20
सितंबरइस महीने में कोई भी अच्छा दिन नहीं
अक्टूबरइस महीने में कोई भी अच्छा दिन नहीं
नवंबर5, 6, 10, 20, 29
दिसंबर13

इन दिनों में ना करें गृह प्रवेश पूजा

अधिकतर लोग गृह प्रवेश सेरेमनी कराने के लिए स्थानीय पुजारी या पंडित से सलाह लेते हैं. लेकिन कई ऐसे दिन होते हैं, जिनमें किसी भी तरह के शुभ काम नहीं करने चाहिए. इसमें नई प्रॉपर्टी खरीदना और गृह प्रवेश इत्यादि शामिल हैं. ये दिन हैं:
-चंद्र ग्रहण
-सूर्य ग्रहण
-चंद्र महीने (अपवादों के लिए एक स्थानीय पुजारी से सलाह लें).

नोट: धर्मसिंधु जैसे धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, जब शुक तारा और गुरु तारा अस्त हों तब गृह प्रवेश पूजा नहीं करानी चाहिए. यह भी ध्यान दें कि गृह प्रवेश की शुभ तारीखें और वक्त (सूरज उगने और सूर्य के डूबने के समय पर) जगहों पर आधारित होते हैं. इसलिए सेरेमनी करने से पहले किसी स्थानीय पंडित की सलाह जरूर ले लें.

गृह प्रवेश समारोह के लिए ये बातें जरूर ध्यान में रखें

ए2जेडवास्तु डॉट कॉम के प्रोमोटर एवं सीईओ विकाश सेठी कहते हैं, ‘गृह प्रवेश की तारीखें तय करने और नए घर में एंट्री से पहले सुनिश्चित कर लें कि घर रहने के लिए तैयार है. गृह प्रवेश के बाद घर खाली न रहे और कोई न कोई उसमें रहें.  सेठी ने सलाह दी कि गृह प्रवेश से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखें.’

-सुनिश्चित करें कि आपके घर के मेन एंट्रेंस पर कोई द्वार वेध (रुकावट) न हो.

-गृह प्रवेश के दिन अपना घर साफ-सुथरा रखें.

-घर को सजाते वक्त उसमें रोशनी करें और खुशबू के लिए फूलों का उपयोग करें.

-पंडित/एक्सपर्ट ने जो मुहूर्त बताया है, उसी पर गृह प्रवेश करें.

कोरोना वायरस महामारी के कारण आप सिर्फ अपने परिवार वालों के साथ ही गृह प्रवेश समारोह कर सकते हैं. लॉकडाउन पूरी तरह हटने के बाद आप अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को बुलाकर किसी अन्य तारीख को पार्टी का आयोजन कर सकते हैं. चूंकि आप उसी घर में दूसरी बार गृह प्रवेश नहीं करेंगे इसलिए एक अनियोजित एंट्री से बचें. इसलिए समय लें और ध्यान से सोचने के बाद ही तारीख तय करें. इसके साथ-साथ अन्य चीजें भी दिमाग में रखें.

कितने प्रकार की होती हैं गृह प्रवेश पूजा

हिंदू मान्यताओं के मुताबिक गृह प्रवेश सेरेमनी तीन प्रकार की होती हैं:

अपूर्वा: अगर आप नए घर में प्रवेश कर रहे हैं तो इसे अपूर्वा गृह प्रवेश कहा जाएगा.

सपूर्वा: अगर आप लंबे समय के बाद अपने घर में फिर से प्रवेश कर रहे हैं तो इसे सपूर्वा गृह प्रवेश कहते हैं.

द्वांधव: अगर आपने किसी प्राकृतिक आपदा के कारण घर छोड़ दिया है और लंबे समय के बाद घर में पुन: प्रवेश कर रहे हैं तो आपको गृह प्रवेश की पूजा विधि करनी होगी.  इसे द्वांधव गृह प्रवेश भी कहा जाता है.

गृह प्रवेश के न्योते के कार्ड

अगर आप हाउस वॉर्मिंग सेरेमनी या फिर गृह प्रवेश पूजा के लिए कार्ड भेजना चाहते हैं तो इन टिप्स को फॉलो करें. इस मौके पर खूबसूरत कार्ड डिजाइन कराने के लिए आप:

1.  प्रेरणा के लिए आप सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग कार्ड्स देख सकते हैं. इंटरनेट पर हजारों ऐसे लेआउट्स उपलब्ध हैं, जहां से आप कार्ड्स पसंद कर सकते हैं.

2. Canva जैसे प्लेटफॉर्म्स पर जाकर आप खुद अपना कार्ड डिजाइन कर सकते हैं. Vimeo या Inshot जैसे वीडियो एडिटिंग प्लेटफॉर्म्स पर आप आसानी से वीडियो कार्ड्स भी बना सकते हैं.

3. डिजाइनिंग के लिए आप बैकग्राउंड इमेज के तौर पर फैमिली पोट्रेट भी चुन सकते हैं. इसके अलावा कार्ड को डेकोरेट करने के लिए आप पारंपरिक रूपांकनों को चुन सकते हैं.

4. समारोह के बारे में हमेशा आप पूरी जानकारी कार्ड पर लिखें. जैसे नया अड्रेस, वक्त और तारीख. आप गूगल मैप्स का लिंक भी इसमें डाल सकते हैं ताकि मेहमान आसानी से आपके पते तक पहुंच जाएं. अगर आप फिजिकल कार्ड दे रहे हैं तो क्यूआर कोड भी उस पर लगा सकते हैं, जो गूगल मैप्स से लिंक हो.

5. इन्विटेशन कार्ड पर किसी परिवार के सदस्य का कॉन्टैक्ट नंबर जरूर लिखें, जो मेहमानों को आस-पड़ोस तक पहुंचने का रास्ता बताए.

बिना कोई तनाव के गृह प्रवेश पार्टी की योजना के लिए टिप्स

-गृह प्रवेश पार्टी लोगों को अपना नया घर दिखाने का सबसे शानदार मौका होता है. इसलिए आपको काफी तैयारियां करनी पड़ती हैं. आज हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिनसे आप गृह प्रवेश पार्टी की तैयारियां बिना किसी तनाव के कर सकते हैं:

-जब तक आपका घर सही आकार में न हो, तब तक इंतजार करें. सही जगह पर फर्नीचर रखें और कुछ बक्सों को खोल लें. अगर इसमें कुछ महीने भी लगते हैं, तब भी ठीक है.

-पार्टी के न्योते देने के लिए आप या तो आसान सा ई-मेल या फिर कोई मैसेज लिख सकते हैं और एडवांस में कुछ दिन पहले अपने करीबियों को भेज सकते हैं. आप ई-मेल को शेड्यूल कर सकते हैं और अपने मेहमानों को RSVP कर सकते हैं ताकि आप खाना और ड्रिंक्स की प्लानिंग कर सकें.

-अपने पड़ोसियों को बुलाना न भूलें. यह उन्हें जानने का सबसे बेहतर मौका है.

-अगर आपने पूरी तरह सामान नहीं खोला है और अधिकतर रसोई का सामान बॉक्स में ही है तो आप ऐसा खाना मंगवा सकते हैं, जिसे कमरे के तापमान में आसानी से रखा जा सके.

-भोजन परोसने के लिए ऐसी मजबूत पेपर प्लेटों का उपयोग करें, जो रिसाइक्लेबल मटीरियल से बनी हों. पार्टी खत्म होने के बाद इन्हें साफ करना आसान होता है.

पूछे जाने वाले सवाल

क्या गृह प्रवेश से पहले आप सामान शिफ्ट कर सकते हैं?

नहीं, सिर्फ गैस सिलेंडर को छोड़कर नए घर में गृह प्रवेश से पहले कोई सामान लेकर ना आएं.

क्या गृह प्रवेश पूजा में हवन जरूरी है?

हवन घर को शुद्ध करता है और सकारात्मक ऊर्जा लाता है. इसलिए लोग गृह प्रवेश पूजा के दौरान हवन कराते हैं.

क्या शुक्रवार के दिन गृह प्रवेश करना अशुभ होता है?

यह उस दिन की तिथि और नक्षत्र पर निर्भर करता है.

किराये के घर में गृह प्रवेश पूजा कैसे करानी चाहिए?

आप किराये के घर में भी उसी तरह पूजा करा सकते हैं, जैसे आप अपने नए घर में कराते.

क्या गृह प्रवेश के लिए शनिवार अच्छा दिन है?

यह उस दिन की तिथि और नक्षत्र पर निर्भर करता है.

नए घर में दूध क्यों उबालते हैं?

हिंदू मान्यताओं के मुताबिक, दूध उबालना समृद्धि का प्रतीक होता है.

Was this article useful?
  • 😃 (4)
  • 😐 (5)
  • 😔 (2)

Comments

comments