गृह प्रवेश मुहूर्त 2022: नए घर में जाने के लिए 2022 में शुभ नक्षत्


वास्तु शास्त्र और हिंदू कैलेंडर के अनुसार, जो लोग 2022 में अपने नए घरों में जाने की प्लानिंग कर रहे हैं, उन्हें शुभ गृह प्रवेश मुहूर्त जरूर देखनी चाहिए। अप्रैल और मई 2022 और इस वर्ष अन्य महीनों में गृह प्रवेश मुहूर्त यहां देखें। हम 2022 में गृह प्रवेश के लिए सर्वश्रेष्ठ नक्षत्र भी बता रहे हैं।

Table of Contents

माना जाता है कि गृह प्रवेश समारोह घर में रहने वाले लोगों के लिए सकारात्मकता और सौभाग्य लाता है। वास्तु में इस बात पर जोर दिया गया है कि यदि किसी शुभ दिन पर गृह प्रवेश पूजा या गृह प्रवेश किया जाता है, तो रहने वालों को स्वास्थ्य, शांति, समृद्धि और खुशी का आशीर्वाद मिलता है। सकारात्मकता सुनिश्चित करने और बुरी ताकतों को दूर भगाने के लिए अनुष्ठानों के साथ गृह प्रवेश समारोह किया जाता है। इसके लिए, गृह प्रवेश पूजा करने के लिए सबसे उपयुक्त तिथि के लिए हिंदू चंद्र कैलेंडर या पंचांग से जाँच की जाती है।

वास्तु शास्त्र एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और नकारात्मक ऊर्जाओं को खत्म करने और धन, समृद्धि को आकर्षित करने के लिए गृह प्रवेश पूजा हेतु दिशा-निर्देश देता है। आप हिंदू चंद्र कैलेंडर या पंचांग देख सकते हैं, जो 2022 में नए घर में जाने की प्लानिंग करने वालों के लिए सबसे अच्छा गृह प्रवेश मुहूर्त बताता है।

यहां गृह प्रवेश समारोह या 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त के लिए एक गाइड दी गई है।

 

गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: गृह प्रवेश मुहूर्त की तारीखें

2022 में गृह प्रवेश की तारीखें  तिथि  नक्षत्र  गृह प्रवेश का शुभ मुहूर्त 2022
जनवरी 2022 कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं जनवरी 2022 में गृह प्रवेश का कोई शुभ मुहूर्त नहीं
फरवरी 5, 2022 पंचमी उत्तर भाद्रपद 07:06 AM से 03:46 AM, फरवरी 6
फरवरी 10, 2022 दशमी रोहिणी, मृगशीर्ष 11:08 AM से 07:02 AM, फरवरी 11
फरवरी 11, 2022 दशमी और एकादशी मृगशीर्ष 07:02 AM से 06:38 AM, फरवरी 12
फरवरी 18, 2022 द्वितीया उत्तर फागुन 04:42 PM से 06:55 AM, फरवरी 19
फरवरी 19, 2022 तृतीया उत्तर फागुन 06:55 AM से 04:51 PM
फरवरी 21, 2022 पंचमी चित्रा 06:54 AM से 04:17 PM
मार्च 2022 कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं
अप्रैल 2022 कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं
मई 2, 2022 द्वितीया रोहिणी 12:34 AM से 05:38 AM, मई 03
मई 11, 2022 एकादशी उत्तर फागुनी 07:28 PM से 05:31 AM, मई 12
मई 12, 2022 एकादशी उत्तर फागुनी 05:31 AM से 06:51 PM
मई 13, 2022 त्रिदोषी चित्रा 06:48 PM से 05:30 AM, मई 14
मई 14, 2022 त्रिदोषी चित्रा 05:30 AM से 03:22 PM
मई 16, 2022 प्रतिपदा अनुराधा 01:18 PM से 05:28 AM, मई 17
मई 20, 2022 पंचमी उत्तर अषाढ़ 05:27 AM से 05:28 PM
मई 25, 2022 दशमी, एकादशी उत्तर भाद्रपद, रेवती 05:25 AM से 05:24 AM
मई 26, 2022 एकादशी रेवती 05:24 AM से 10:54 AM
सितंबर 2022 कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं सितंबर 2022 में गृह प्रवेश का कोई शुभ मुहूर्त नहीं
अक्टूबर 2022 कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं अक्टूबर 2022 में गृह प्रवेश का कोई शुभ मुहूर्त नहीं
नवंबर 2022 कोई शुभ मुहूर्त नहीं कोई शुभ मुहूर्त नहीं नवंबर 2022 में गृह प्रवेश का कोई शुभ मुहूर्त नहीं
दिसंबर 2, 2022 दशमी, एकादशी उत्तर भाद्रपद, रेवती 06:56 AM to 06:57 AM, दिसंबर 03
दिसंबर 3, 2022 एकादशी रेवती 06:57 AM to 05:34 AM, दिसंबर 04
दिसंबर 8, 2022 प्रतिपदा रोहिणी, मृगशीर्ष 09:37 AM to 07:01 AM, दिसंबर 09
दिसंबर 9, 2022 एकादशी, द्वितीया मृगशीर्ष 07:01 AM to 02:59 PM

 

गृह प्रवेश की तारीखें अलग-अलग कैलेंडर के आधार पर भिन्न हो सकती हैं जैसे तेलुगु पंचांग में गृहप्रवेसम मुहूर्तम 2022। वास्तु के अनुरूप आयोजित गृह प्रवेश पूजा, नए घर में सकारात्मक ऊर्जा सुनिश्चित करती है। वास्तु शांति मुहूर्त या गृह प्रवेश पूजा के लिए सबसे अच्छा समय नीचे महीने-वार दिया गया है। 2022 में किराए के नए घर में शिफ्ट होने वालों के लिए ये दिन शुभ हैं।

 

मई 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

तारीख  गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: मई
मई 2, 2022 रोहिणी नक्षत्र, द्वितीया – तिथि, 12:34 पूर्वाह्न से 05:38 पूर्वाह्न
मई 11, 2022 उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र, एकादशी – तिथि, 07:28 अपराह्न से 05:31 पूर्वाह्न तक
मई 12, 2022 उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र, एकादशी – तिथि, 05:31 पूर्वाह्न से 06:51 शाम बजे तक
मई 13, 2022 चित्रा नक्षत्र, त्रयदोशी – तिथि, 06:48 अपराह्न से 05:30 पूर्वाह्न
मई 14, 2022 चित्रा नक्षत्र, त्रयदोशी – तिथि, 05:30 पूर्वाह्न से 03:22 अपराह्न
मई 16, 2022 अनुराधा नक्षत्र, प्रतिपदा – तिथि, 01:18 अपराह्न से 05:28 पूर्वाह्न
मई 20, 2022 उत्तरा आषाढ़ नक्षत्र, पंचमी – तिथि, 05:27 पूर्वाह्न से 05:28 अपराह्न
मई 25, 2022 उत्तरा भाद्रपद, रेवती नक्षत्र, दशमी, एकादशी – तिथि, 05:25 पूर्वाह्न से 05:24 पूर्वाह्न तक
मई 26, 2022 रेवती नक्षत्र, एकादशी – तिथि, 05:24 पूर्वाह्न से 10:54 पूर्वाह्न

मई 2022 में केवल गृह प्रवेश के लिए ही शुभ तिथियां नहीं हैं, इस महीने नया घर खरीदने के लिए कई शुभ दिन हैं। हिंदू कैलेंडर के अनुसार वैशाख और ज्येष्ठ के चंद्र महीने मई के साथ मेल खाते हैं। इस  महीने में एक नए घर में जाने के लिए कई उपयुक्त शुभ दिन हैं। मई 2022 में नौ शुभ गृह प्रवेश तिथियां हैं।

इसके अलावा, अक्षय तृतीया का शुभ दिन, जो 3 मई, 2022 को पड़ता है, 2022 में सर्वश्रेष्ठ गृह प्रवेश तिथियों में से एक है।

 

जून 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

तारीख  गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: जून
जून 1, 2022 मृगशीर्ष नक्षत्र, द्वितीया – तिथि, 05:23 पूर्वाह्न से 01:01 अपराह्न
जून 10, 2022 चित्रा नक्षत्र, दशमी, एकादशी – तिथि, 05:22 पूर्वाह्न से 03:37 पूर्वाह्न तक
जून 16, 2022 उत्तरा आषाढ़ नक्षत्र, तृतीया – तिथि, दोपहर 12:37 से 05:22 पूर्वाह्न
जून 22, 2022 रेवती नक्षत्र, दशमी – तिथि, 08:45 रात्रि से पूर्वाह्न 05:23

जून का महीना, जो ज्येष्ठ और आषाढ़ चंद्र महीनों से मेल खाता है, में चार शुभ गृह प्रवेश की तारीखें हैं।

 

जुलाई, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर और नवंबर 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

गृह प्रवेश के लिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं है, क्योंकि यह शुक्र तारा अस्त का समय है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार कुछ दिनों तक ग्रह आंखों को दिखाई नहीं देते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि वे सूरज के बहुत करीब पहुंच जाते हैं। चूंकि शुक्र दिखाई नहीं दे रहा है, इसलिए इन महीनों को गृह प्रवेश के लिए उपयुक्त नहीं माना जाता है।

श्रावण, भाद्रपद, अश्विन और कार्तिका के महीने या चतुर्मास (चार महीने), यानी जुलाई से अक्टूबर / नवंबर तक के समय को पवित्र माना जाता है। हालाँकि, ये महीने गृह प्रवेश पूजा करने के लिए उपयुक्त नहीं हैं और इसलिए 2022 में इन महीनों में गृह प्रवेश का कोई मुहूर्त नहीं है। यह अवधि तपस्या, प्रायश्चित और उपवास सहित धार्मिक अनुष्ठानों से जुड़ी है।

 

दिसंबर 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

तारीख  गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: दिसंबर
दिसंबर 2, 2022 उत्तरा भाद्रपद, रेवती नक्षत्र, दशमी, एकादशी – तिथि, 06:56 पूर्वाह्न से 06:57 पूर्वाह्न तक
दिसंबर 3, 2022 रेवती नक्षत्र, एकादशी – तिथि, 06:57 पूर्वाह्न to 05:34 पूर्वाह्न
दिसंबर 8, 2022 रोहिणी, मृगशीर्ष नक्षत्र, प्रतिपदा – तिथि, 09:37 पूर्वाह्न से 07:01 पूर्वाह्न तक
दिसंबर 9, 2022 मृगशीर्ष नक्षत्र, प्रतिपदा, द्वितीया – तिथि, 07:01 पूर्वाह्न से 02:59 अपराह्न तक

दिसंबर 2022 के महीने में गृह प्रवेश मुहूर्त की चार तारीखें हैं। ये गृह प्रवेश तारीखें दिसंबर महीने के पहले दो सप्ताह में आती हैं।

ये तिथियां स्थान के अनुसार भिन्न हो सकती हैं। सटीक मुहूर्त के लिए कृपया अपने स्थानीय पुजारी से परामर्श लें, क्योंकि पंचांग एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में भिन्न हो सकता है।

 

 

जनवरी 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: जनवरी
जनवरी 2022 में गृह प्रवेश के लिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं है

जनवरी 2022 में गृह प्रवेश के लिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं है। चंद्र माह को शुभ समय नहीं माना जाता है। इसलिए आपको जनवरी 2022 में गृह प्रवेश की शुभ तिथि नहीं मिल सकती है।

 

फरवरी 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

तारीख  गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: फरवरी
फरवरी 5, 2022 पंचमी – तिथि, उत्तर भाद्रपद नक्षत्र, 07:06 पूर्वाह्न से 03:46 पूर्वाह्न तक
फरवरी 10, 2022 मृगशीर्ष नक्षत्र, दशमी – तिथि, पूर्वाह्न 11:08 से 07:02 पूर्वाह्न
फरवरी 11, 2022 दशमी और एकादशी – तिथि, 07:02 पूर्वाह्न to 06:38 पूर्वाह्न
फरवरी 18, 2022 उत्तर फागुन नक्षत्र, द्वितीया – तिथि, 04:42 अपराह्न से 06:55 पूर्वाह्न
फरवरी 19, 2022 उत्तर फागुन नक्षत्र, तृतीया – तिथि, 04:42 अपराह्न से 06:55 अपराह्न
फरवरी 21, 2022 चित्रा नक्षत्र, पंचमी – तिथि, 06:54 पूर्वाह्न से 04:17 अपराह्न

फरवरी माह गृह प्रवेश के लिए आदर्श है और इसमें 2022 में नए घर में जाने वालों के लिए गृह प्रवेश की छह शुभ तिथियां हैं। यह आपके गृह प्रवेश समारोह की योजना बनाने के लिए पहला शुभ महीना है क्योंकि जनवरी 2022 में कोई उपयुक्त गृह प्रवेश मुहूर्त नहीं है। चंद्र हिंदू कैलेंडर के अनुसार, फागुन या फाल्गुन महीना फरवरी के साथ एक ही समय में आता है। लोगों के लिए इसका खास महत्व है क्योंकि इस महीने में होली और महाशिवरात्रि जैसे त्योहार मनाए जाते हैं और माना जाता है कि यह उन लोगों के लिए फलदायी है जो अपने नए घरों में जाने की योजना बना रहे हैं।

 

मार्च 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

 गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: मार्च
मार्च 2022 में गृह प्रवेश के लिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं है

मार्च 2022 में गृह प्रवेश के लिए अच्छे दिन नहीं हैं। तेलुगु पंचांग में गृहप्रवेसम मुहूर्तम 2022 में गृह प्रवेश के लिए चार शुभ तिथियां दी गई हैं जो 4, 9, 18 और 26 मार्च हैं। आपको अपने नए घर में जाने से पहले मार्च महीने के लिए गृह प्रवेश तारीख 2022 की पुष्टि करने के लिए किसी ज्योतिषी से सलाह लेनी चाहिए।

 

अप्रैल 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त

गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: अप्रैल
 अप्रैल 2022 में गृह प्रवेश के लिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं है

चैत्र और वैशाख के चंद्र महीने अप्रैल के अनुरूप हैं। गृह प्रवेश के लिए अप्रैल 2022 में कोई उपयुक्त तारीख नहीं है। हालांकि, तेलुगु पंचांग में गृहप्रवेसम मुहूर्तम 2022 के अनुसार, 6, 7 और 14 अप्रैल को गृह प्रवेश के लिए शुभ मुहूर्त हो सकता है। किसी ज्योतिषी से परामर्श लेने की सलाह दी जाती है।

 

गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: इन दिनों में ना करें गृह प्रवेश पूजा

अधिकतर लोग गृह प्रवेश सेरेमनी कराने के लिए स्थानीय पुजारी या पंडित से सलाह लेते हैं. लेकिन कई ऐसे दिन होते हैं, जिनमें किसी भी तरह के शुभ काम नहीं करने चाहिए. इसमें नई प्रॉपर्टी खरीदना और गृह प्रवेश इत्यादि शामिल हैं. ये दिन हैं:

  • चंद्र ग्रहण
  • सूर्य ग्रहण
  • चंद्र महीने (अपवादों के लिए एक स्थानीय पुजारी से सलाह लें).

नोट: धर्मसिंधु जैसे धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, जब शुक तारा और गुरु तारा अस्त हों तब गृह प्रवेश पूजा नहीं करानी चाहिए. यह भी ध्यान दें कि गृह प्रवेश की शुभ तारीखें और वक्त (सूरज उगने और सूर्य के डूबने के समय पर) जगहों पर आधारित होते हैं. इसलिए सेरेमनी करने से पहले किसी स्थानीय पंडित की सलाह जरूर ले लें.

 

गृह प्रवेश: अर्थ और महत्ता

एक नए घर में जाने से पहले एक ‘गृह प्रवेश’ पूजा की जाती है। गृहप्रवेश दो शब्दों से बना है – ‘गृह’, जिसका अर्थ है एक घर और ‘प्रवेश’, जिसका अर्थ है प्रवेश करना। पूजा घर से किसी भी बुरे प्रभाव और वास्तु दोष से छुटकारा पाने के लिए की जाती है। गृहप्रवेश पूजा घर को साफ और शुद्ध करके घर में सकारात्मक आभा को बढ़ाती है। गृह प्रवेश पूजा घर के निवासियों द्वारा शांति और समृद्धि के लिए दिव्य आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए की जाती है।

एक गृह प्रवेश या एक गृह प्रवेश समारोह, एक घर के लिए केवल एक बार किया जाता है। इसलिए, गलतियों से बचने के लिए, हर विवरण का ध्यान रखना आवश्यक है। यदि आपने हाल ही में एक घर खरीदा है, तो आपको समारोह के लिए सही तिथि का चयन करना होगा। हिंदू परंपरा में, हिंदू कैलेंडर (पंचांग) में विशिष्ट दिनों का उल्लेख किया गया है, जिन्हें नए घर में प्रवेश करने के लिए शुभ (शुभ) माना जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार शुभ मुहूर्त में गृह प्रवेश पूजा करने से रहने वालों के जीवन में सौभाग्य की प्राप्ति होती है। अंतिम समय में समस्याओं से बचने के लिए, गृह प्रवेश समारोह की योजना पहले से बनाना बेहतर है। प्रारंभिक योजना आपको अपने गृह प्रवेश के लिए सबसे अच्छे शुभ मुहूर्त को लॉक करने में मदद कर सकती है। अन्यथा, यदि आप तिथि को अंतिम रूप देने में देरी करते हैं, तो आपको सामान्य मुहूर्त से संतुष्ट रहना पड़ सकता है।

 

गृह प्रवेश के लिए कौन से नक्षत्र अच्छे हैं?

विशेषज्ञों के अनुसार, गृह प्रवेश के लिए कुछ सबसे शुभ नक्षत्र हैं:

  • उत्तर भाद्रपद
  • उत्तर फाल्गुनी
  • उत्तरशाध:
  • रोहिणी
  • मार्गशीरा
  • चित्रा
  • अनुराधा नक्षत्र

गृह प्रवेश 2022 के लिए ऊपर कुछ बेहतरीन नक्षत्र दिए गए हैं, जो आपके नए घर में जाने और परिवार और दोस्तों के साथ गृह प्रवेश समारोह आयोजित करने का आदर्श समय है।

 

गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: शुभ त्यौहार

तारीख  त्यौहार 
फरवरी 5, 2022 बसंत पंचमी
अप्रैल 2, 2022 गुड़ी पड़वा और चैत्र नवरात्रि शुरू
मई 3, 2022 अक्षय तृतीया
अक्टूबर 5, 2022 दशहरा
अक्टूबर 22, 2022 धनतेरस

कुछ शुभ त्योहारों को 2022 में आदर्श गृह प्रवेश मुहूर्त माना जाता है। 2022 में गृह प्रवेश मुहूर्त के त्योहार की तारीखें ऊपर दी गई हैं। हालांकि शुभ तिथियां अलग-अलग हो सकती हैं। उदाहरण के तौर पर, तमिल कैलेंडर या पंचांग में दी गईं 2021 या 2022 में गृह प्रवेश की तिथियां विक्रम संवत कैलेंडर में दी गईं गृह प्रवेश की तिथियों से भिन्न हो सकती हैं। इसलिए, आपको गृह प्रवेश समारोह से पहले एक पुजारी से परामर्श करना चाहिए।

याद रखें कि 2022, 2021 और 2020 में गृह प्रवेश की तारीखें अलग होंगी। उदाहरण के तौर पर, अक्टूबर 2020 में दशहरा त्योहार के साथ मेल खाने वाली गृह प्रवेश की तारीखें अलग होंगी क्योंकि त्योहार की तारीखें अलग-अलग होंगी।

आप 2021 में तिथि, नक्षत्र, और गृह प्रवेश समारोह की तारीखों को जानने के लिए एक हिंदू कैलेंडर का उल्लेख कर सकते हैं (जिसे तेलुगु में ग्रुहप्रवेसम मुहूर्तम या बंगाली में गृहोप्रोबेश के रूप में भी जाना जाता है)।

अरिहंत वास्तु में एक्सपर्ट नरेंद्र जैन ने कहा, ‘गृह प्रवेश के लिए कई लोग खारमास, श्राद्ध, चतुर्मास इत्यादि को अशुभ मानते हैं. पंचांग हर जगह का अलग-अलग हो सकता है. इसलिए आपके इलाके में जो पंचांग माना जाता है, उसी के अनुसार ज्योतिषी से गृह प्रवेश की तारीख निकलवाएं. नीचे हम आपको साल 2021-22 में गृह प्रवेश की शुभ तारीखें बताने जा रहे हैं.’

यह भी देखें: गृह प्रवेश नए घर के लिए टिप्स

 

गृह प्रवेश समारोह के लिए ये बातें जरूर ध्यान में रखें

ए2जेडवास्तु डॉट कॉम के प्रोमोटर एवं सीईओ विकाश सेठी कहते हैं, ‘गृह प्रवेश की तारीखें तय करने और नए घर में एंट्री से पहले सुनिश्चित कर लें कि घर रहने के लिए तैयार है. गृह प्रवेश के बाद घर खाली न रहे और कोई न कोई उसमें रहें.  सेठी ने सलाह दी कि गृह प्रवेश से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखें.’

  • सुनिश्चित करें कि आपके घर के मेन एंट्रेंस पर कोई द्वार वेध (रुकावट) न हो.
  • मेन गेट को केले के पौधे, आम के पत्ते, ताजे फूलों से सजाएं और फर्श पर रंगोली बनाएं.
  • मेन गेट वो जगह है, जहां से घर में समृद्धि और अच्छे वाइब्स आती हैं. इसलिए घर के अंदर दहलीज पर लक्ष्मी के पैर हमेशा बनाएं. दीवार के बाहरी तरफ स्वास्तिक और ओम बनाएं.
  • गृह प्रवेश के दिन अपना घर साफ-सुथरा रखें.
  • घर को सजाते वक्त उसमें रोशनी करें और खुशबू के लिए फूलों का उपयोग करें.
  • पंडित/एक्सपर्ट ने जो मुहूर्त बताया है, उसी पर गृह प्रवेश करें.
  • घर में प्रवेश करने से पहले एक नारियल तोड़ें जो सभी बाधाओं को दूर करने का प्रतीक है.
  • घर में एंट्री करते समय हमेशा दाहिना पैर आगे रखें, क्योंकि यह समृद्धि का प्रतीक है.
  • गृह प्रवेश पूजा नकारात्मक वाइब्स से बचाने और शांतिपूर्ण माहौल बनाने के लिए की जाती है. गृह प्रवेश समारोह में एक हवन, गणेश पूजा, नवग्रह शांति और वास्तु पूजा शामिल है.

कोरोना वायरस महामारी के कारण आप सिर्फ अपने परिवार वालों के साथ ही गृह प्रवेश समारोह कर सकते हैं. लॉकडाउन पूरी तरह हटने के बाद आप अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को बुलाकर किसी अन्य तारीख को पार्टी का आयोजन कर सकते हैं. चूंकि आप उसी घर में दूसरी बार गृह प्रवेश नहीं करेंगे इसलिए एक अनियोजित एंट्री से बचें. इसलिए समय लें और ध्यान से सोचने के बाद ही तारीख तय करें. इसके साथ-साथ अन्य चीजें भी दिमाग में रखें.

 

Griha Pravesh Muhurat

 

ये भी देखें: गृह प्रवेश के न्योते के कार्ड्स के डिजाइन्स

 

गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022: महीने और उनके महत्त्व

महीना  महत्व
माघ (जनवरी  – फरवरी) धन लाभ होता है
फाल्गुन (फरवरी  – मार्च) धन और संतान के मामले में लाभकारी
बैशाख (अप्रैल  – मई) धन-समृद्धि को बढ़ाता है
जेठ (मई – जून) मवेशियों के मामले में लाभकारी

ऊपर दिए गए महीने हिंदू गृह प्रवेश समारोह या गृह प्रवेश के लिए शुभ महीने हैं। आप इन महीनों में शुभ गृह प्रवेश तिथि 2022 पर गृह प्रवेश समारोह की योजना बना सकते हैं।

एक नवनिर्मित मकान में सूर्य के उत्तरायण होने पर घर के मालिक का प्रथम प्रवेश शुभ होता है। पुराने घरों या पुनर्निर्मित घरों में यह आदर्श है जब बृहस्पति (गुरु) या शुक्र अस्त हो रहे हों (इस मामले में तारा कोई मायने नहीं रखता है)।

 

गृह प्रवेश मुहूर्त की गणना

वास्तु शास्त्र और ज्योतिष के विशेषज्ञ विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हैं जैसे कि तिथियां, दिन, नक्षत्र, नौ ग्रहों की स्थिति, लग्न, शुभ योग, अधिक मास या कैलेंडर में जोड़ा गया एक अतिरिक्त महीना, आदि, भद्रा, राहु काल, आदि गृह प्रवेश मुहूर्त की गणना के लिए। ऐसा माना जाता है कि इन पहलुओं पर विचार करने के बाद चुना गया अनुकूल समय या मुहूर्त नए घरों में जाने वालों के लिए अच्छे परिणाम देगा।

 

कितने प्रकार की होती हैं गृह प्रवेश पूजा

हिंदू मान्यताओं के मुताबिक गृह प्रवेश सेरेमनी तीन प्रकार की होती हैं:

अपूर्वा: अगर आप नए घर में प्रवेश कर रहे हैं तो इसे अपूर्वा गृह प्रवेश कहा जाएगा.

सपूर्वा: अगर आप लंबे समय के बाद अपने घर में फिर से प्रवेश कर रहे हैं तो इसे सपूर्वा गृह प्रवेश कहते हैं.

द्वांधव: अगर आपने किसी प्राकृतिक आपदा के कारण घर छोड़ दिया है और लंबे समय के बाद घर में पुन: प्रवेश कर रहे हैं तो आपको गृह प्रवेश की पूजा विधि करनी होगी.  इसे द्वांधव गृह प्रवेश भी कहा जाता है.

यह भी देखें: वास्तु के अनुसार घर में मंदिर की दिशा के बारे में सब कुछ

 

गृह प्रवेश पूजा के आयोजन में नया

प्रौद्योगिकी ने गृह प्रवेश पूजा सहित सभी क्षेत्रों में प्रवेश किया है। इसका न केवल परिवार और दोस्त ऑनलाइन पूजा में शामिल होते हैं, बल्कि आजकल गृह प्रवेश अनुष्ठान को भी पुजारियों द्वारा डिजिटल रूप से निर्देशित किया जा रहा है। अब कोई भी पंडित को उस विशिष्ट भाषा में ऑनलाइन बुक कर सकता है, जिसकी पूजा करने के लिए किसी को जरूरत होती है। संपूर्ण पूजा समागिरी को ऑनलाइन ऑर्डर किया जा सकता है। वेबकैम के माध्यम से ऑनलाइन पूजा सेवाएं चलन में हैं। COVID-19 महामारी के कारण, घर के मालिक अब अपनी गृह प्रवेश पूजा स्वयं करने का विकल्प चुन रहे हैं, एक पंडित उन्हें वीडियो कॉल के माध्यम से मार्गदर्शन कर रहा है और स्मार्टफोन या लैपटॉप के माध्यम से मंत्रों का जाप कर रहा है। घर के मालिकों को इशारे की नकल करने या किसी आह्वान को दोहराने का निर्देश देने के लिए पुजारी लाइव स्क्रीन पर मौजूद होते हैं। डिजिटल पूजा इंटरएक्टिव मोड आम होता जा रहा है। पुजारियों द्वारा पूजा, हवन, पुष्पांजलि, कलश, शुभ वस्तुएं, मूर्ति आदि के लिए चरण-दर-चरण मार्गदर्शन ऑनलाइन नहीं दिया जा रहा है।

गृह प्रवेश पूजा के लिए एक और प्रवृत्ति देखी गई है कि यह अंग्रेजी में आयोजित की जा रही है, क्योंकि विदेशों में रहने वाले एनआरआई अंग्रेजी में सुनाई जाने वाली गृहिणी की रस्मों को पसंद करते हैं। तो पुजारी श्लोकों का अर्थ अंग्रेजी में समझाते हैं। साथ ही, महिला पुजारी अत्यधिक पुरुष-प्रधान पेशे में प्रगति कर रही हैं और शादियों और गृह प्रवेश पूजाओं का आयोजन करती देखी जाती हैं।

 

गृह प्रवेश के न्योते के कार्ड

अगर आप हाउस वॉर्मिंग सेरेमनी या फिर गृह प्रवेश पूजा के लिए कार्ड भेजना चाहते हैं तो इन टिप्स को फॉलो करें. इस मौके पर खूबसूरत कार्ड डिजाइन कराने के लिए आप:

  1. प्रेरणा के लिए आप सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग कार्ड्स देख सकते हैं. इंटरनेट पर हजारों ऐसे लेआउट्स उपलब्ध हैं, जहां से आप कार्ड्स पसंद कर सकते हैं.
  2. Canva जैसे प्लेटफॉर्म्स पर जाकर आप खुद अपना कार्ड डिजाइन कर सकते हैं. Vimeo या Inshot जैसे वीडियो एडिटिंग प्लेटफॉर्म्स पर आप आसानी से वीडियो कार्ड्स भी बना सकते हैं.
  3. डिजाइनिंग के लिए आप बैकग्राउंड इमेज के तौर पर फैमिली पोट्रेट भी चुन सकते हैं. इसके अलावा कार्ड को डेकोरेट करने के लिए आप पारंपरिक रूपांकनों को चुन सकते हैं.
  4. समारोह के बारे में हमेशा आप पूरी जानकारी कार्ड पर लिखें. जैसे नया अड्रेस, वक्त और तारीख. आप गूगल मैप्स का लिंक भी इसमें डाल सकते हैं ताकि मेहमान आसानी से आपके पते तक पहुंच जाएं. अगर आप फिजिकल कार्ड दे रहे हैं तो क्यूआर कोड भी उस पर लगा सकते हैं, जो गूगल मैप्स से लिंक हो.
  5. इन्विटेशन कार्ड पर किसी परिवार के सदस्य का कॉन्टैक्ट नंबर जरूर लिखें, जो मेहमानों को आस-पड़ोस तक पहुंचने का रास्ता बताए.

 

गृह प्रवेश पूजा आयोजित कराने के टिप्स

    • अपने पुजारी से सलाह लें ताकि गृह प्रवेश के लिए सही वक्त और शुभ तारीख मिल सके. यह सब कुछ पहले से तैयार करना है और अपने करीबियों को आमंत्रित करना है, ताकि वे इस शुभ लम्हे का हिस्सा बन सकें.
    • किचन में कुछ प्रसाद जैसे हलवा या खीर बनाएं, पहले भगवान को चढ़ाएं और फिर मेहमानों को प्रसाद दें.
    • घर के मुख्य द्वार को तोरण, स्वास्तिक और अन्य शुभ चिन्हों से सजाएं। ऐसा माना जाता है कि घर का प्रवेश द्वार वास्तु पुरुष का चेहरा है और सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ावा देता है।
    • हवन कुंड तैयार करें और सुनिश्चित करें कि क्षेत्र अच्छी तरह से साफ हो गया है। माना जाता है कि हवन समारोह आसपास के वातावरण को शुद्ध करता है।
    • सुनिश्चित करें कि गृह प्रवेश के दिन कोई भी अतिथि खाली हाथ न जाए।

     

    यह भी देखें: त्योहारों के इस सीजन में आपके नए घर के लिए गृह प्रवेश टिप्स

 

गृह प्रवेश समारोह के लिए वास्तु शास्त्र के टिप्स 

सुनिश्चित करें कि आप गृह प्रवेश पूजा करते समय सभी वास्तु की ज़रूरतों का पालन कर रहे हैं। यह सुनिश्चित करेगा कि घर में सकारात्मकता रहे और नए घर में आशीर्वाद आकर्षित करेगा। हिंदू कैलेंडर के अनुसार, गृह प्रवेश एक उपयुक्त मुहूर्त पर किया जाना चाहिए। नए घर में प्रवेश करने के लिए आदर्श दिन और समय वास्तु शांति मुहूर्त 2021 में जाँच करें। मुख्य प्रवेश द्वार को रंगोली, फूलों और पवित्र प्रतीकों जैसे स्वास्तिक या देवी लक्ष्मी के चरणों से सजाएं। दरवाजे को ताजे आम के पत्तों के तोरण से सजाएं। गृह प्रवेश को पूर्वोत्तर कोने में करना याद रखें। घर में नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए पुजारी की मदद से वास्तु पूजा या हवन (नवग्रह या भगवान गणेश के लिए) करें। इस बात का ध्यान रखें कि कमरा खुला और हवादार हो। गृह प्रवेश पूजा बंद दरवाजों और खिड़कियों से नहीं करनी चाहिए।

 

गृह प्रवेश समारोह में क्या करें और क्या न करें

अगर आप 2022 में शुभ गृह प्रवेश तिथियों में से किसी एक को गृह प्रवेश समारोह की योजना बना रहे हैं, तो इन बातों पर ध्यान देना सुनिश्चित करें।

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार, गृह प्रवेश पूजा तैयार घर में करना चाहिए। अर्थात घर का निर्माण उचित छत, दरवाजे और खिड़कियों के साथ अच्छी तरह से होना चाहिए।
  • गृह प्रवेश मुहूर्त पर नए घर में प्रवेश करते समय सबसे पहले दाहिना पैर रखें।
  • गृह प्रवेश समारोह से पहले किसी भी फर्नीचर को हटाने से बचें। हालांकि, गृह प्रवेश पूजा के तीन दिन तक घर को खाली रखने से बचना चाहिए।
  • रसोई गैस या ओवन को वास्तु शांति या गृह प्रवेश पूजा से पहले शिफ्ट किया जा सकता है।
  • साथ ही परिवार में किसी की मृत्यु होने की स्थिति में गृह प्रवेश पूजा न करें।
  • अगर घर की महिला गर्भवती है, तो गृह प्रवेश समारोह आयोजित करने से बचने की सलाह दी जाती है।
  • गृह प्रवेश पूजा के दौरान बात करने से बचें। गृह प्रवेश समारोह परिवार के सभी सदस्यों की उपस्थिति में करें जब हर सदस्य स्वस्थ हो और सकारात्मक वाइब्स को आकर्षित करे।

 

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

क्या गृह प्रवेश से पहले आप सामान शिफ्ट कर सकते हैं?

नहीं, सिर्फ गैस सिलेंडर को छोड़कर नए घर में गृह प्रवेश से पहले कोई सामान लेकर ना आएं.

किराये के घर में गृह प्रवेश पूजा कैसे करानी चाहिए?

आप किराये के घर में भी उसी तरह पूजा करा सकते हैं, जैसे आप अपने नए घर में कराते.

नए घर में दूध क्यों उबालते हैं?

हिंदू मान्यताओं के मुताबिक, दूध उबालना समृद्धि का प्रतीक होता है.

क्या गृह प्रवेश पूजा में हवन जरूरी है?

हवन घर को शुद्ध करता है और सकारात्मक ऊर्जा लाता है. इसलिए लोग गृह प्रवेश पूजा के दौरान हवन कराते हैं.

गृह प्रवेश के दिन मुख्य द्वार के पास फर्श पर रंगोली क्यों बनाई जाती है?

घर में देवी लक्ष्मी (समृद्धि) का स्वागत करने के लिए चावल के आटे, फूलों और चमकीले रंगों का उपयोग करके फर्श पर रंगीन रंगोली बनाई जाती है।

(अमित सेठी और पूर्णिमा गोस्वामी शर्मा के इनपुट्स के साथ)

 

Was this article useful?
  • 😃 (18)
  • 😐 (11)
  • 😔 (5)

[fbcomments]