दिल्ली के लाल डोरा इलाकों में प्रॉपर्टी खरीदने के ये हैं फायदे और नुकसान


कम दरें होने के कारण दिल्ली के लाल डोरा और जमीन से घिरे इलाके खरीददारों को बेहतर कनेक्टिविटी के कारण आकर्षित करते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि एेसे क्षेत्रों में निवेश करते वक्त किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।
सीनियर लेवल मार्केटिंग प्रोफेशनल राशू सिन्हा दिल्ली में काम करते हैं। उन्होंने हाल ही में दो-बेडरूम का अपार्टमेंट लिया है। सिन्हा की संपत्ति की खास बात है कि उनका अपार्टमेंट किसी नए हाउसिंग प्रोजेक्ट का हिस्सा नहीं बल्कि दिल्ली की अवैध कॉलोनी के पुनर्विकसित प्रोजेक्ट का हिस्सा है। फिर भी सिन्हा कहते हैं कि वह भाग्यशाली हैं कि उनका अपार्टमेंट मेट्रो स्टेशन के पास है।
दिल्ली में जमीनी घनत्व वाले काफी गांव हैं, जिन्हें लाल डोरा आबादी की श्रेणी में रखा गया है। ये अपने आप में खास हैं, क्योंकि इन इलाकों में बेची गई संपत्तियां रजिस्टर्ड नहीं होतीं। दिल्ली सरकार एक लाल डोरा सर्टिफिकेट जारी करती है, जिससे साबित होता है कि मालिकाना हक आबादी के पास है। इस सर्टिफिकेट के आधार पर गांव में मकानमालिक पानी और बिजली कनेक्शन के लिए अप्लाई करते हैं। दिल्ली में 300 से ज्यादा आबादी हैं। साउथ दिल्ली के प्रॉपर्टी कंसलटेंट मनीष गुप्ता ने कहा, ”दिल्ली में आसानी से पता होने का लालच ही कई प्रॉपर्टी खरीददारों को लाल डोरा इलाकों की तरफ खींच रहा है”।

लाल डोरा इलाकों में प्रॉपर्टी होने के फायदे

कम कीमत: सिन्हा ने कहा कि दिल्ली के अधिकृत इलाकों की तुलना में प्रॉपर्टी रेट कम होते हैं। कम कीमत होने के कारण इन इलाकों में सेंट्रल पार्क, चौड़ी सड़कें इत्यादि जैसी सुविधाएं नहीं होतीं। इसके अलावा जो प्रॉपर्टी मालिक नकद और बेहिसाब पैसे के मिश्रण के जरिए स्वतंत्र फ्लोर और संपत्तियां बेचते थे, वे नोटबंदी के बाद साफ-सुथरा लेनदेन करने को मजबूर हैं।

अहम जगहों से करीबी:

ये इलाके इसलिए भी मशहूर हैं, क्योंकि ये कई अहम जगहों के पास हैं। उदाहरण के तौर पर पोसांगीपुर साउथ-वेस्ट दिल्ली का जाना-माना आबादी इलाका है। यह बिजनेस डिस्ट्रिक्ट और वेस्ट जनकपुरी मेट्रो स्टेशन से पास है। जो लोग इन कमर्शियल इलाकों के पास काम करते हैं, वे इस आबादी में घर लेना पसंद करते हैं। इसलिए, इन कारकों के कारण क्षेत्र के लेनदेन में तेजी आई है।

नियमों में बदलाव:

दिल्ली मास्टर प्लान के मुताबिक 1500 स्क्वेयर फीट से ज्यादा वाले प्लॉट्स को मल्टी-स्टोरी अपार्टमेंट्स में पुनर्विकसित किया जा सकता है। इस लालच में कई छोटे बिल्डर्स जमीन मालिकों के साथ अग्रीमेंट कर लेते हैं। इसलिए इन इलाकों में नई सप्लाई पहुंच गई है। जनकपुरी के ब्रोकर प्रवीन शर्मा ने बताया कि कैसे खरीददार पुराने डीडीए के घरों के मुकाबले इन नई संपत्तियों को तवज्जो दे रहे हैं, जबकि ये महंगे भी हैं।

लाल डोरा इलाकों में क्या अॉफर हैं?

इन इलाकों में ज्यादातर बनी हुई संपत्तियां या स्वतंत्र फ्लोर्स होते हैं। विकसित गांवों में आपको छोटे आकार के पुनर्विकसित घर मिल जाएंगे। उदाहरण के तौर पर महावीर एन्कलेव पार्ट 1 या द्वारका के पास गणेश नगर में एेसे नए घर उपलब्ध हैं। आमतौर पर एक बीएचके वाले अपार्टमेंट की कीमत 12 लाख और तीन बेडरूम वाले अपार्टमेंट/स्वतंत्र फ्लोर की कीमत 70 लाख तक होती है।

आबादी श्रेणी में अहम इलाके

क्षेत्र क्षेत्र का नाम क्या हैं अॉफर 
वेस्ट दिल्लीपौससंगपुर, वीरेन्द्र नगर, उत्तम नगर के हिस्से, महावीर एनक्लेव, असलतपुर।1-BHK, 2-BHK और 3-बीएचके अपार्टमेंट और स्वतंत्र फ्लोर्स।
साउथ दिल्लीलाडो सराय, किशन गढ़, बसंत गाव, खिड़की, मुनिरका, यूसुफ सराय, कटवारिया सराय, छतरपुर, संत नगर, मेहरौली विस्तार अबादी। 2-BHK और 3BHK वाले विला या स्वतंत्र घर
ईस्ट दिल्ली शकरपुर में दयानंद ब्लॉक, कोटला गांव, खेड़ा गांव,

 कोंडली, त्रिलोकपुरी
खराब कंस्ट्रक्शन क्वॉलिटी वाले 1-BHK, 2-BHK और 3-BHK वाले घर
नॉर्थ दिल्लीनेताजी सुभाष विहार, कड़कड़डूमा गांव, नवादा, नरेला गांव के हिस्से, गोपाल पुर, रोहिणी के हिस्सेअच्छी क्वॉलिटी के 1-BHK, 2-BHK  और 3-BHK वाले घर, स्वतंत्र प्रॉपर्टीज और फ्लोर

लाल डोरा इलाकों का भविष्य?

बढ़ती लेनदेन और पुनर्विकसित प्रोजेक्ट्स के कारण लाल डोरा इलाकों का भविष्य स्थिर रह सकता है। प्रॉपर्टी कंसलटेंट प्रदीप मिश्रा ने कहा, लाल डोरा इलाके अहम जगहों से करीब और डीडीए अपार्टमेंट्स से कम दरों के कारण अपनी पकड़ बनाए रखेंगे। हालांकि जो खरीददार लाल डोरा की जमीन या प्रोजेक्ट में निवेश करने की सोच रहे हैं, उन्हें  संपत्ति के दस्तावेजों की प्रामाणिकता और स्वामित्व की वैधता की जांच करनी चाहिए। अगर संपत्ति के दस्तावेज साफ हैं और कई मालिकों को बेचा नहीं गया है या संपत्ति गिरवी नहीं है तो निवेश किया जा सकता है।
Was this article useful?
  • 😃 (0)
  • 😐 (1)
  • 😔 (0)

Comments

comments